Monday, May 16, 2022
Homefull formsMICR का फुल फॉर्म क्या होता है?

MICR का फुल फॉर्म क्या होता है?

आज हम आपको बताने वाले हैं कि MICR का फुल फॉर्म क्या होता है,एमआईसीआर MICR क्या होता है, एमआईसीआर MICR कैसे काम करता है .एमआईसीआर MICR के क्या फायदे और नुकसान है, आज हम आपको इसके बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे तो चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं.

एमआईसीआर MICR क्या होता है

आपको बता देगी एमआईसीआर की फुल फॉर्म होती है “Magnetic Ink Character Recognition” इसको हिंदी में चुंबकीय स्याही चरित्र पहचान कहते हैं. एमआईसीआर MICR कोड पहचानने के लिए इसमें स्याही का मेगनेटिक करैक्टर होता है जो चेक के नीचे एक वाइट लाइन white line के रूप में पाया जाता है. जिसे MICR बैंड भी कहते हैं .इसको का उपयोग इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन international transaction के लिए किया जाता है. इस कोड का उपयोग से धन की सुरक्षा बढ़ जाती है .एमआईसीआर MICR बहुत पुरानी विधि है जो धन की सुरक्षा के लिए एक Negotiable Instruments होता है. चेक को संसाधित करने की विधि बहुत सरल है। चेक के संबंध में विस्तृत जानकारी MICR कोड के साथ संलग्न है, जिसे चेक के 9 नंबरों के अनुक्रम द्वारा दिखाया गया है।

पहली तीन संख्या सिटी को शो करती हैं,जबकि अगले तीन संख्या बैंक की जानकारी तथा अंतिम तीन बैंक की ब्रांच के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाती हैं. नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड National Electronic Fund का परिचय रिजर्व बैंक ने कराया है. जिसे फंड को तेजी से सावधानीपूर्वक एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेजा जा सकता है. एमआईसीआर MICR विशेष मैग्नेटिक स्याही से लिखी जाता है जिससे फंड के मामले में तुरंत मैग्नेटिक Scanner के द्वारा पहचाना जा सकता है .एमआईसीआर MICR कोड यदि 110229003 है.तो इसमें तीन सिटी का नाम बताती हैं बीच की संख्या बैंक का नाम बताती हैं जब बैंक के ब्रांच की जानकारी देती है.

110 – City Code

229 – Bank code

003 – Branch Code

MICR कैसे काम करता है

दस्तावेज़ पर MICR कोड दो प्रकार के फ़ॉन्ट का उपयोग करके मुद्रित किया जाता है, एक E-13B है और दूसरा CMC-7 है। उपयोग की जाने वाली स्याही एक चुंबकीय स्याही है। MICR कोड MICR रीडर को दिया जाता है जो अन्य चिह्नों जैसे स्टैम्प और हस्ताक्षर द्वारा अस्पष्ट किए गए वर्णों को कुशलतापूर्वक पढ़ने की अनुमति देता है।

MICR की विशेषताएं

यह आसानी से पढ़ने लायक होते हैं भले यह किसी अक्षर या मोहर में ही क्यों ना लिखे हो।

MICR में इस्तेमाल होने वाले कार्ट्रिज सामान्य कार्ट्रिज की तुलना में बहुत महंगे होते हैं।

आज के समय में इसकी बहुत मांग है जो MICR फोंट इन मांगों को पूरा नहीं करते हैं उन्हें खारिज कर दिया जाता है।

What is the difference between IFSC Code and MICR CODE?

आईएफएससी कोड IFSC Code और MICR में बहुत ही अंतर है, कि NEFT और RTGS के माध्यम से धन का भुगतान करते समय IFSC कोड का उपयोग किया जाता है.  दूसरी ओर MICR कोड का उपयोग केवल चेक के पत्तों पर किया जाता है, यह मुख्य रूप से चेक सिस्टम के साथ होता है।जबकि IFSC कोड काफी हद तक NEFT और RTGS सिस्टम के साथ होता है और सुविधा के लिए चेक लीव्स पर भी इसका उल्लेख होता है।

Read More: Template ko Hindi me Kya Kehte Hai

MICR की History क्या है?

आपको बता देंगे 1940 से पहले Sort-A-Matic या टॉप टैब विधि का उपयोग करके चेक मैनुअली manually रूप से संशोधित किया जाता था. चेक की प्रोसेसिंग Processing और क्लीयरेंस clearance में बहुत समय लगता था। और चेक क्लीयरेंस और बैंक संचालन bank operations में महत्वपूर्ण लागत थी। जैसे-जैसे चेक की संख्या बढ़ती गई प्रक्रिया को स्वचालित करने में तरीकों की तलाश की गई. वित्तीय संसाधनों Financial Resources में एकरूपता समिति रूप से मानक विकसित किया गए थे.

कुछ समय बाद 1950 में स्टेनफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट और जनरल इलेक्ट्रिक कंप्यूटर लेबोरेटरी the Stanford Research Institute and the General Electric Computer Laboratory developed ने एमआईसीआर MICR का उपयोग करके जांच की प्रक्रिया के लिए पहले प्रणाली विकसित की थी. इस टीम ने E13B MICR फ़ॉन्ट से विकसित किया।

आपको बता दें कि भारत में इस कोड का इस्तेमाल 1980 में हुआ था, शुरुआत में इसका इस्तेमाल चेक क्लियरेंस में किया जाता था।फिर धीरे से यूनिकोड में बदलकर अन्य उपयोग में लाया जाने लगा। आपके बैंक में लगा हुआ चेक सुरक्षित और जल्दी क्लियर हो इसके लिए उपयोग में लाया जाता है.

MICR कोड कैसे बनता है

किसी भी चेक को क्लियर clear करने के लिए चेक को एक स्कैनिक मशीन के scanning machine अंदर डाला जाता है, तो यहां पर एक बार कोड के रूप में एमआईसीआर कोड काम करता है। इस बैंक की भी पहचान होती है, यह कुल नौ नंबर का होता है। इसके डिजिट को कोई भी पड़ सकता है! यह human read digits होती है!

MICR कोड कैसे पता करें?

यदि आप किसी बैंक का MICR कोड पता करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको किसी सर्च इंजन पर जाना है और लिखना है एमआईसीआर कोड सर्च आगे बैंक का नाम या बैंक की ब्रांच लिखकर आप सर्च कर सकते हैं। अब आपको पहली हेड लाइन पर एक क्लिक करना है उसके बाद आपको बैंक का चुनाव कर लेना है. अब नीचे आएंगे तो आपको राज्य और जिले का नाम चुनना है!

जब आपने इसे चुना है, तो आपको अगला दर्ज करना होगा! अब आप नीचे देखेंगे आपको MICR कोड मिल जाएगा!

बैंक चेक के माध्यम से

जब कभी आप एमआईसीआर कोड को ऑनलाइन नहीं ढूंढ पाते तो आप उसे ऑफलाइन भी प्राप्त कर सकते हैं इसके लिए आपको अपना चेक निकालना है और उस पर यह कोड देखकर आप एमसीआर का कोड प्राप्त कर सकते हैं यह कोड आपके बैंक चेकq के नीचे सफेद रंग की पट्टी के अंदर होता है जिसे बैंकिंग भाषा में एमआईसीआर बैंड कहा जाता है.

आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं,अगर आपको यह पोस्ट पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments