Monday, May 16, 2022
Homefull formsENT का फुल फॉर्म क्या होता है ?

ENT का फुल फॉर्म क्या होता है ?

आज हम बात करेंगे ENT क्या होता है,I ENT का फुल फॉर्म क्या होता है,ENT को हिंदी में क्या कहते हैं ,इसके बारे में हम आपको संपूर्ण जानकारी देंगे।

ENT का फुल फॉर्म?

  • ENT फुल फार्म का Ear Nose Throat होता है.हिंदी में कान नाक गला होता है.
  • ENT (Ear Nose Throat) को हम ईयर नोज थ्रोट के नाम से भी जानते हैं।
  • आपको बता दें कि इसे ओटोलरींगोलॉजी Otolaryngology दवा की एक शाखा माना जाता है, जिसके तहत आप आसानी से अपने कान, नाक और गले के विकारों की पहचान और इलाज कर सकते हैं।
  • यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि एक ईएनटी- ENT कान नाक गले का डॉक्टर कान के संक्रमण, चक्कर आना, टॉन्सिल और अन्य समस्याओं सहित विभिन्न बीमारियों का इलाज करता है।
  • इस प्रकार की चिकित्सा को एक ऐसा क्षेत्र माना जाता है जो कान, नाक और शरीर के कुछ हिस्सों से संबंधित होता है।
  • सिर और गर्दन की सर्जरी को हमेशा खास माना जाता है, जिन लोगों को कान, नाक और गले से जुड़ी कोई बीमारी है, तो आप ओटोलरींगोलॉजिस्ट से सलाह ले सकते हैं, जो आपको सही सलाह देकर आपकी बीमारी का निदान करते हैं।

Read More: ABG ka Full Form Kya Hota Hai

एक डॉक्टर ई.एन.टी. ENT आइए इन विभिन्न बीमारियों का इलाज नीचे करें

# 1। निगलने में कठिनाई

#2. बुखार जैसी एलर्जी

#3. कान के विकार और कान में संक्रमण

#4. स्वर बैठना और स्वरयंत्र अनुसंधान जैसे भाषण विकार

#5. कान, नाक और मुंह में ट्यूमर

#6. कोई जन्मजात समस्या

अस्पतालों में अलग ईएनटी विभाग की क्या जरूरत है?

  1. हर अस्पताल का एक अलग ई.एन.टी. चिकित्सा का एक विभाग है, जिसका सबसे महत्वपूर्ण और मुख्य कारण यह है कि डॉक्टर ऐसी बीमारियों का विशेष रूप से इलाज कर सकते हैं।
  2. जहां आपको ईएनटी-ENT ईयर नोज थ्रोट में विभिन्न सुविधाएं मिलती हैं।
  3. जैसे ओपीडी, वर्टिगो टेस्ट, स्पीच थेरेपी आदि।
  4. ये सभी चीजें एक मरीज की शारीरिक गतिविधियों की पहचान करने के लिए की जाती हैं, ताकि उसके लक्षणों का ठीक से इलाज किया जा सके।
  5. आपको बता दें कि हर अस्पताल में ईएनटी का एक अलग सेक्शन होता है, जिसमें बहुत अच्छे डॉक्टर होते हैं।
  6. इसमें एक ईएनटी सर्जन है जो नवजात से लेकर बुजुर्ग लोगों तक सभी उम्र के लोगों का इलाज कर सकता है।
  7. ईएनटी सर्जन अक्सर ऐसी स्थितियों का इलाज करते हैं जो इंद्रियों को प्रभावित करती हैं। वे ऐसी स्थितियों के इलाज में महत्वपूर्ण साबित होते हैं।

Read More: EDD ka Full Form Kya Hota Hai

ईएनटी ENT के तहत शरीर के अंग

1. कान

इससे आप में यह देखने को मिलता है कि आपको सुनने से संबंधित कोई रोग नहीं है।

आपको यहां कान की समस्या का पूरा इलाज मिलता है जैसे हम आपको बता दें कि कान का संक्रमण, कान का शोर, संतुलन विकार आदि इलाज के तहत संभव है।

आप इन अंगों का आंतरिक और बाहरी दोनों तरह से इलाज करवा सकते हैं।

कान की स्थिति में शामिल हैं: –

  • *उम्र से संबंधित श्रवण हानि
  • *कान फटना
  • * कान के संक्रमण
  • * चक्कर आना
  • *छिद्रित कान का परदा
  • *कोई भी सामान्य बचपन की स्थिति
  • * टिनिटस

Read More: MC ka Full Form Kya Hota Hai

2. नाक

अधिकांश लोगों के लिए यह विषय बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि हमारी आधी आबादी साइनसाइटिस विकार से पीड़ित है, जो दिन-प्रतिदिन एक बड़ी समस्या बनती जा रही है।

जहां आपको ईएनटी के तहत सही इलाज मिलेगा और आप आसानी से अपनी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं।

नाक की स्थिति में शामिल हैं: –

  1. *नाक की चोट
  2. *नाक का ट्यूमर
  3. *बच्चों में गंध की भावना के विकार
  4. *नाक की रुकावट

Read More: BMI ka Full Form Kya Hota Hai

3. गला

यह हमारे लिए बहुत जरूरी माना जाता है, जिसकी मदद से हमें सांस लेने या कुछ भी निगलने में आसानी होती है।

अगर आपको इससे जुड़ी कोई परेशानी है तो ईएमटी के तहत आपका पूरा इलाज किया जाएगा।

गले की स्थिति में शामिल हैं: –

  • * कर्कशता
  • *निगलने की समस्या
  • * सांस लेने में कठिनाई
  • *नींद के दौरान सांस का रुकना
  • * टॉन्सिल

स्वास्थ्य संबंधी बहुत सारी जानकारी के लिए आप WHO की वेबसाइट पर भी जा सकते हैं।

ICU(आईसीयू) का फ़ुल फ़ॉर्म इंटेंसिव केयर यूनिट (Intensive Care Unit) होता है।

हर अस्पताल में आईसीयू की सुविधा है। आईसीयू एक अलग तरह का विभाग है, जो किसी भी मरीज को गहन इलाज की दवा मुहैया कराने का काम करता है।

गंभीर चोट, बीमारी या बीमारी से पीड़ित मरीजों की देखभाल के लिए आईसीयू बहुत उपयोगी है। आमतौर पर हम देखते हैं कि अगर मरीज की हालत लगातार बिगड़ती रहती है, तो वह आईसीयू थैरेपी के लिए तैयार हो जाता है।

हर अस्पताल में करीब 20 से 30 फीसदी आईसीयू बेड हैं।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लेगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं ,यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

Read More: JIO ka Full Form Kya Hota Hai

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments