Thursday, May 19, 2022
Homefull formsCAD का फुल फॉर्म क्या होता है?

CAD का फुल फॉर्म क्या होता है?

कैड CAD एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में 2D और 3D डिजाइन क्रिएट करने के लिए प्रयोग किया जाता है। कैड CAD का फुल फॉर्म कंप्यूटर ऐडेड डिजाइन Computer Aided Design होता है। आपको बता दें कि कैड के अंतर्गत टू डाइमेंशनल लेआउट डिजाइन और थ्री डाइमेंशनल डिजाइन two dimensional layout design and three dimensional design बनाए जाते हैं. CAD का इस्तेमाल कहा किया जाता है आज हमें इसके बारे में विस्तार पूर्वक पढ़ेंगे तो चलिए  आपको इसके बारे में बताते हैं.

CAD क्या हैं :-

आपको बता दें कि कैड CAD डिजाइनिंग का एक सॉफ्टवेयर होता है जिसकी मदद से इंजीनिय लोग डिजाइन बना सकते हैं इसका उपयोग खासतौर पर इंजीनियर लोग ज्यादा करते हैं। कैड CAD सॉफ्टवेयर हार्डवेयर का एक कंबीनेशन होता है जिसकी मदद से इंजीनियर लोग किसी प्रकार का डिजाइन आसानी से बना सकते हैं.

कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन का  Computer aided design अर्थ है कि CAD का उपयोग इंजीनियरों, वास्तुकारों, ड्राफ्टर्स द्वारा तकनीकी चित्र technical drawings या कोई सटीक चित्र precise drawings बनाने के लिए किया जाता है।

CAD का उपयोग (2-D) drawings or three-dimensional (3-D) models.  मॉडल बनाने के लिए किया जाता है।

 यह सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का एक combination है, जिसे इंजीनियर हर तरह के डिजाइन बनाने के लिए बनाता है।

1980 के दशक तक विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर बनाने के लिए कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन (CAD) सिस्टम का उपयोग किया जाता था, लेकिन आज आप CAD सॉफ्टवेयर भी खरीद सकते हैं और इसे अपने कंप्यूटर या डेस्कटॉप पर चला सकते हैं।

CAD का फुल फॉर्म इन हिंदी में होता है कंप्यूटर ऐडेड डिजाइन (computer aided design)

Read More: OTP Kya Hai

2D CAD डिजाइन

2D CAD के बहुत सारे एप्लीकेशन होते हैं जिसका इस्तेमाल वर्टिकल बेस्ट लेआउट डिजाइन vector-based layouts design करने के लिए किया जाता है. आपको बता दें कि आर्किटेक्चर इसका इस्तेमाल करते हैं। कैड सॉफ्टवेयर को बिल्डिंग फ्लोर,Building Floor  प्लान करने और आउटडोर लैंडस्केप Outdoor Landscapes  के overhead views क्रिएट करने के लिए 2D CAD का इस्तेमाल किया जाता है 2D CAD का इस्तेमाल इनके लेआउट, जिस में की व ट्रैक्टर ग्राफिक होते हैं उन्हें स्केल किया जाता है अलग-अलग साइज में इन्हें इस्तेमाल किया जाता है इसे ही 2D डिजाइन कहते हैं, 2D CAD के अंतर्गत आते हैं drawings, जैसे की sketches और mockups, जो की बहुत ही common होते हैं किसी एक design process के शुरुवाती दौर में.

3D CAD

3D CAD का उपयोग आमतौर पर वीडियो गेम video games और एनिमेटेड फिल्मों animated films को बनाने करने के लिए किया जाता है। वहीँ इसके बहुत से real-world applications भी हैं, जैसे की product design, civil engineering, और simulation modelling.

कंप्यूटर एडेड मैन्युफैक्चरिंग Computer Aided Manufacturing (CAM) 3D CAD के अंतर्गत आता है, जिसमें थ्री-डायमेंशनल ऑब्जेक्ट्स three-dimensional objects का वास्तविक निर्माण होता है।

2D CAD ड्रॉइंग की तरह, 3D मॉडल आमतौर पर वेक्टर-आधारित vector-based  होते हैं, लेकिन वेक्टरt hree dimensions के अंतर्गत आते हैं, two dimensions में नहीं। यह डिजाइनरों को complex 3D shapes जिसे की move, rotate, enlarge, और modify किया जा सकता है.

आपको बता दें कि कुछ 3D मॉडल को क्रिएट करने के लिए कैड डिजाइनर को सबसे पहले कंस्ट्रक्ट construct करना पड़ता है। उस ऑब्जेक्ट को बेसिक “wireframe. तैयार हो जाए तो फिर सरफेस surface को उस में ऐड किया जाता है. जिसमें आते ही कलर ग्रेडियंट एडिजाइन color gradient design को अप्लाई किया जाता है एक प्रोसेस के द्वारा जिसे भी texture mapping कहा जाता है.

ज्यादातर CAD programs में ये ability होती है जिससे की lighting को adjust किया जा सके, जो की affect करती हैं Objects की shadows और reflections पर. कुछ programs के अंतर्गत एक timeline भी होता है जिसका इस्तमाल होता है 3D animations create करने के लिए

Cad History.

1960 के दशक के मध्य से, आईबीएम ड्राफ्टिंग सिस्टम के साथ, कंप्यूटर-एडेड डिज़ाइन सिस्टम ने इलेक्ट्रॉनिक ड्राफ्टिंग के साथ मैनुअल ड्राफ्टिंग को पुन: पेश करने की क्षमता प्रदान करना शुरू कर दिया, कंपनियों के लिए सीएडी में स्विच करने के लिए एक लागत-लाभ। साफ हो गया। मैनुअल ड्राफ्टिंग पर सीएडी सिस्टम के फायदे आज कंप्यूटर सिस्टम द्वारा दी जाने वाली क्षमताएं हैं; सामग्री के बिलों की material, auto layout in integrated circuits, interference checking । पहले 1980 के दशक के मध्य तक, CAD सिस्टम अलग तरह से बनाए गए कंप्यूटर थे, लेकिन अब आप CAD सॉफ्टवेयर खरीद सकते हैं जो आपके कंप्यूटर (PC) पर चल सकता है।

1970 के दशक के बाद सीएडी/सीएएम प्रौद्योगिकियों के उपयोग में तेजी से वृद्धि बड़े पैमाने पर उत्पादित सिलिकॉन चिप्स और माइक्रोप्रोसेसरों के विकास से संभव हुई, जिसके परिणामस्वरूप अधिक आसानी से उपलब्ध सस्ते कंप्यूटर उपलब्ध हो गए। जैसे-जैसे कंप्यूटरों की कीमत में गिरावट जारी रही और उनकी प्रसंस्करण शक्ति में सुधार हुआ, बड़े पैमाने पर बड़े पैमाने पर बड़े पैमाने पर उत्पादन तकनीक का उपयोग करने वाली सभी आकार की फर्मों के लिए सीएडी / सीएएम का उपयोग व्यापक हो गया।

CAD के उपयोग :-

CAD में हम 2D व 3D आदि का उपयोग करके निर्मित उत्पादों के फिजिकल कंपोनेंट के लेआउट को डिजाइन कर सकते हैं।

CAD का इस्तेमाल करके टायर्स, इंजन आदि जैसे विभिन्न प्रकार के ऑटो कंपोनेंट को भी तैयार किया जा सकता है।

CAD को सड़क, जलवायु तथा टोपोग्राफी मैप्स को डिज़ाइन करने के लिये कार्टोग्राफी में उपयोग किया जाता हैं।

CAD का उपयोग मिसाइलों, हवाई जहाज, आंतरिक्ष वाहनों तथा उपग्रहों के डिज़ाइन में भी किया जाता हैं।

CAD के उदाहरण क्या हैं?

CAD सॉफ्टवेयर के उदाहरण

सीएडी सॉफ्टवेयर के उदाहरण

ऑटोकैड, 3डीएस मैक्स, और माया – ऑटोडेस्क द्वारा प्रकाशित वाणिज्यिक सीएडी सॉफ्टवेयर।

ब्लेंडर – उपयोगकर्ताओं के एक सक्रिय समुदाय के साथ एक ओपन-सोर्स सीएडी, एनीमेशन और इमेज प्रोसेसिंग एप्लिकेशन।

स्केचअप – एक मालिकाना सीएडी एप्लिकेशन जो एक वेब ब्राउज़र में चलता है, जिसे पहले Google द्वारा विकसित किया गया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments